logo
उदासीनता : अधिकारियों के उपेक्षा का दंश झेल रहे हैं इस क्षेत्र के खिलाड़ी आदेश के बावजूद भी नहीं हुआ खेल का आयोजन, मायूस होकर बैरंग लौटे खिलाड़ी
 


त्रिवेणीगंज  सुपौल : यहां के खिलाड़ियों को विभागीय उदासीनता का दंश तो अक्सर झेलना हीं पड़ता है लेकिन खिलाड़ियों के मानसिक,
शारिरिक औऱ बौद्धिक विकास के लिए अगर वरीय अधिकारी भी अपने अधीनस्थ के संबंधित अधिकारियों को खेलकूद का आयोजन करने का निर्देश भी देते हैं तो वह भी बेअसर हो जाता है दरअसल 20 दिसंबर को जिलाधिकारी सुपौल की अध्यक्षता में सभी संबंधित पदाधिकारियों की उपस्थिति में जिला स्तरीय विद्यालयों में खेल प्रतियोगिता आयोजन समिति की बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में जिलाधिकारी के द्वारा जारी जिला स्तरीय वार्षिक विद्यालय खेलकूद कार्यक्रम संबंधी मार्गदर्शिका 2021-22 के आलोक में विचार विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया था

कि जिला स्तरीय प्रतियोगिता से पहले अनुमंडल स्तर पर कबड्डी, फुटबॉल,बॉलीबाल बालक/बालिका एवं क्रिकेट बालक (ट्रायल) की प्रतियोगिता विद्यालय-महाविद्यालय प्रधान से सहयोग प्राप्त कर संबंधित खेल संघ के सचिव-अध्यक्ष नियमानुसार प्रतियोगिता संपन्न कराएंगे।जिसमें चयनित प्रतिभागी 27 से 31 दिसंबर तक विभिन्न कॉलेज में होने वाले प्रतियोगिता में भाग लेंगे। इसको लेकर त्रिवेणीगंज अनुमंडल में 23 और 24 दिसंबर के लिए होने वाले प्रतियोगिता को लेकर उच्च विद्यालय जदिया और अनुपलाल यादव महाविद्यालय को चिन्हित किया गया था लेकिन मजे की बात तो यह है कि खेल महज जदिया उच्च विद्यालय तक ही सीमित रहा। जबकि प्रतियोगिता में 23 दिसंबर को भाग लेने अनुपलाल यादव महाविद्यालय त्रिवेणीगंज पहुँचे क्रिकेट टीम को  मायूस होकर बैरंग लौटना पड़ा। इससे साफ स्पष्ट होता है कि खेल के प्रति स्थानीय पदाधिकारी कितने उदासीन है।

जबकि सरकार खेल प्रतियोगिता को बढ़ावा देने के लिए अग्रसर है।बता दें कि 15 बच्चों के एक क्रिकेट टीम को लेकर पहुंचे अभिलाष कुमार ने बताया कि अनुमंडलीय स्तरीय खेलकूद का प्रोग्राम था,छातापुर प्रखंड के मधुबनी उत्क्रमित उच्च विद्यालय से खेलकूद के लिए बच्चे सब को लेकर आए हैं बच्चों को लेकर जब अनुपलाल यादव महाविद्यालय त्रिवेणीगंज पहुँचे तो देख रहे हैं कि यहां खेलकूद का कोई कार्यक्रम नहीं है कॉलेज में परीक्षा चल रहा है त्रिवेणीगंज एसडीओ एसजेड हसन को कॉल किए तो कॉल काट दिए तो वहीं छातापुर बीआरसी औऱ बीईओ से संपर्क किए तो यह भी कॉल रिसीव नहीं किये।हम इस ठंड में 15 बच्चों को क्रिकेट टीम बनाकर यहां खेलने लाये हैं खेलकूद को लेकर बीआरसी छातापुर औऱ जिला से भी लेटर मिला जिसके बाद आज बच्चे को खेलने के लिए यहां लेकर पहुँचे, यहां खेलकूद की कोई व्यवस्था नहीं है पता किये तो सभी कह रहे हैं यहां परीक्षा चल रहा है हमलोगों को ठगा जा रहा है

रिपोर्ट:--शोएब,त्रिवेणीगंज (सुपौल)

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।