logo
Alwar Minor Gang Rape case: पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए भाजपा का विरोध प्रदर्शन, प्रियंका गांधी पर साधा निशाना
 

अलवर (राजस्थान)। राजस्थान के अलवर में एक झकझोर देने वाली घटना सामने आई थी जिसमें एक लड़की जो कि बोल नहीं सकती, उसके साथ कुछ दरिंदों ने गैंग रेप किया था। दिल्ली जैसा निर्भया कांड राजस्थान में होने से घमासान मच गया है। पीड़िता का ऑपरेशन जयपुर में 8 डॉक्टरों द्वारा किया गया जिसके बाद हालत स्थिर बताई जा रही है। 

पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि ताजा निष्कर्षों से पता चला है कि मानसिक रूप से विक्षिप्त लड़की, जो राजस्थान के अलवर जिले में अपने निजी अंगों पर चोटों के साथ एक व्यथित अवस्था में पाई गई थी, उसने खुद यात्रा की थी। पुलिस ने कहा कि उन्हें अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि नाबालिग लड़की को इतनी गंभीर चोटें कैसे लगीं, जबकि इस बात की पुष्टि की जानी बाकी है कि यह बलात्कार का कार्य था या नहीं।

पुलिस ने जयपुर में डॉक्टरों की एक टीम द्वारा तैयार की गई मेडिकल रिपोर्ट का हवाला दिया।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर पुलिस महानिदेशक को मामले की निष्पक्ष जांच करने का निर्देश दिया है। अशोक गहलोत ने कहा कि उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, अलवर के एसपी और बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टरों से बात की है। उन्होंने कहा कि डीआईजी रैंक के एक अधिकारी के नेतृत्व में एक अलग टीम को जांच के लिए अलवर भेजा गया है।


पुलिस ने कहा कि विभिन्न स्थानों से एकत्र किए गए सीसीटीवी फुटेज में उसे शहर के कई इलाकों और पुल पर चलते हुए दिखाया गया है, लेकिन किसी भी कैमरे ने उसे पुल पर व्यथित स्थिति में नहीं पाया। इस दौरान एक बाल मनोवैज्ञानिक और विशेषज्ञों ने भी बच्ची से बातचीत की. पुलिस ने कहा कि वे विशेषज्ञों के लिए एक प्रश्नावली तैयार कर रहे हैं ताकि वे लड़की से जवाब मांग सकें।

बच्ची मंगलवार रात अलवर में तिजारा फाटक के पास एक पुल पर पड़ी मिली थी। खून बह रहा था और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उसे जयपुर के जेके लोन अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

इससे पहले, पुलिस ने कहा कि यह बलात्कार का मामला प्रतीत होता है, लेकिन पुलिस ने कहा कि चिकित्सा न्यायविद की रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ भी कहा जा सकता है।

इस अपराध के बाद भाजपा कांग्रेस पर बुरी तरह प्रहार कर रही है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस मामले में प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब अलवर में ये घटना हो रही थी, तब प्रियंका गांधी रणथंभौर में रॉबर्ट वाड्रा के साथ जन्मदिन मना रही थी। उन्होंने कहा कि जब भाजपा के नेताओं को पता चला कि प्रियंका गांधी राजस्थान में हैं तो भाजपा नेताओं ने प्रियंका से मुलाकात करने की कोशिश की, लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने यह कहकर मिलने नहीं दिया कि प्रियंका गांधी अपना जन्मदिन मना रही हैं।

आगे संबित पात्रा ने कहा कि आज वो बेटी आईसीयू में अपने जीवन से लड़ रही है। क्या प्रियंका जी उस पीड़िता से मिलीं? क्या वे उस पीड़िता के घर गईं? 

वहीं सीएम गहलोत ने कहा कि घटना का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।