logo
क्या जबरजस्ती सपा में शामिल करवाए जा रहे हैं विधायक, बेटी के आरोपों से उठी शंका
 

बिधूना (औरैया)। इस समय की सबसे बड़ी खबर औरैया जनपद के बिधूना से है जहां विधायक विनय शाक्य की बेटी रिया शाक्य ने अपने चाचा पर पिताजी का किडनैप करने का आरोप लगाया है।

आपको बताते चलें कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या के सपा में शामिल होने के बाद बिधूना विधायक के घर में घमासान शुरू हो गया है। विनय शाक्य की बेटी ने अपने चाचा देवेश शाक्य पर पिता को जबरन लखनऊ ले जाने का आरोप लगाया है। बेटी रिया शाक्य खुद भाजपा से टिकट मांग रही हैं।

पैरालिसिस अटैक के कारण विनय शाक्य बेड रेस्ट पर हैं। उनकी बेटी का कहना है कि मेरे पिता कभी भी सपा में शामिल नहीं होना चाहते हैं। वो अपने भाई और मां को लेकर सीधे लखनऊ जा रही हैं। अगर उनके पिता से मिलने नहीं दिया गया, तो वो थाने में किडनैप की शिकायत करेंगी।

पिता से हम लोग बात भी नहीं कर पा रहे

रिया शाक्य ने अपने चाचा देवेश शाक्य पर बीमार विधायक पिता विनय शाक्य को जबरन लखनऊ ले जाने का आरोप लगाया है। विधायक विनय शाक्य चलने फिरने और बोलने में असमर्थ हैं। विनय शाक्य पैरालिसिस अटैक के कारण कई साल से बेड रेस्ट पर हैं। उनकी बेटी भाजपा से औरैया के बिधूना विधान सभा सीट से टिकट मांग रही हैं। बेटी ने बताया कि उनकी और उनकी मां की बात भी पिता विनय शाक्य से नहीं कराई जा रही है।

2 साल से बेड रेस्ट पर हैं विनय

विनय शाक्य बिधूना सीट से दो बार विधायक रहे हैं। वो एक बार एमएलसी भी मनोनीत हुए थे। बसपा सरकार में वो दो बार मंत्री भी रहे हैं। दो साल पहले विनय शाक्य को पैरालिसिस अटैक पड़ा था। उसके बाद से वो बेड रेस्ट पर हैं। विनय शाक्य ने 2012 में एमएलसी रहने के दौरान बिधूना सीट से अपने भाई देवेश शाक्य को चुनाव लड़वाया था। हालांकि उनको जीत नहीं मिली थी।

रिपोर्ट- अंकुर गुप्ता

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।