logo
जयप्रकाश हत्याकांड: क्या 70 लाख की प्रॉपर्टी के चक्कर में सुला दिया मौत की नींद ! पुलिस कर रही छानबीन
 

रायबरेली में चकेरी बैंक अफसर निवासी जयप्रकाश पाल की मंगलवार रात को गोलियों से भून के हत्या कर दी गई थी। इस वारदात को रायबरेली के मिल एरिया थाना क्षेत्र में अंजाम दिया गया था। जय प्राकाश पाल बैंक ऑफ बड़ौदा की रायबरेली के डीह शाखा में तैनात थे। पुलिस आपसी रंजिस के अलावा इस हत्याकांड को दूसरे तरीके से भी देख रही है।

पुलिस के मुताबिक जय प्रकाश एक जमीन खरीदने वाले थे। बताया जा रहा है कि प्रतापगढ़ के शख्स ने उस जमीन का खुद को मालिक बताया था। जो जमीन जयप्रकाश खरीदने वाला था उसमें कुछ फर्जीवाड़ा था। उस जमीन के लिए जयप्रकाश ने 10 लाख रुपय भी दे दिए थे पर जमीन के कागज़ात जय प्रकाश को नहीं दिए जा रहे थे। पुलिस ने आशंका जताई है कि हो सकता हो हत्याकांड जमीनी विवाद से जुड़ा हुआ हो। 

पुलिस की जांच में पता चला कि प्रतापगढ़ के रहने वाले एक शख्स के नाम उस जमीन की रजिस्ट्री ही नहीं है जिससे जय प्रकाश को जमीन खरीदनी थी। शख्स ने जमीन तो खरीदी थी लेकिन वह एक मामले में जेल चला गया था। इसलिए रजिस्ट्री नहीं हो सकी थी। पुलिस को आशंका है कि पैसे वापस न करने पड़े इसलिए उसने हत्या करवा दी। पुलिस ने कहा कि इन सभी लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। प्रतापगढ़ वाले शख्स व उसके परिवार का बड़ा आपराधिक इतिहास है। जिसकी पड़ताल की जा रही है। 

फिलहाल पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज करके कार्यवाही शुरु कर दी है।

 

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।