logo
हाईवे पर फिर दिखा रफ्तार का कहर , बेकाबू कंटेनर की टक्कर से बाइक सवार युवकों की मौत
 

उरई(जालौन)। प्रतिदिन बेकाबू रफ्तार किसी ना किसी के लिए घातक साबित होती है। लेकिन फिर भी तेज रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगता। बेकाबू वाहन की रफ्तार पर तो ब्रेक नहीं लगता। लेकिन यह बेकाबू वाहन प्रतिदिन किसी न किसी की जिंदगी पर ब्रेक जरूर लगा देते हैं। मामला उत्तर प्रदेश के जनपद जालौन के आटा थाना क्षेत्र का है, जहां पर एक बेकाबू कंटेनर ने दवाई लेने जा रहे टोल कर्मियों को टक्कर मार दी। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गए घटना घटित होते ही कंटेनर चालक कंटेनर छोड़ के रफूचक्कर हो गया। लेकिन राहगीर एवं पुलिस की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। दोनों टोल कर्मियों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि
जिला झांसी थाना मोंठ गांव बघोनिया निवासी शिशुपाल 25 वर्ष  पुत्र बाला व जिला कानपुर देहात थाना मंगलपुर के गाँव मंडोली निवासी रामु 27 वर्ष पुत्र ब्रजेश सिंह नेशनल हाईवे के आटा टोल पर टोल कनेक्टर के पद पर तैनात थे।

मंगलवार की रात दोनों मैनेजर को बताकर आटा दवाई लेने जा रहे थे। इस दौरान वह जैसे ही सूर्या होटल के पास पहुँचे। तभी झांसी की ओर से पीछे से आ रहे तेज रफ्तार कन्टेनर ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। इससे वह हाइवे पर गिर पड़े और कन्टेनर उन्हें रौंदते हुए भाग गया। हादसे में  दोनों टोल कर्मियों की मौके पर मौत गई। हादसे से मौके पर हड़कंप मच गया। राहगीरों की भीड़ लग गई और  सूचना पाकर मौके पर टोल मैनेजर समेत अन्य स्टाफ़ व पुलिस भी पहुँच गई। जिसने दोनों के शवों को कब्जे में लिया और पुलिस ने भाग रहे कंटेनर को कालपी के पास पकड़ लिया जबकि ड्राइवर कूदकर भाग निकला।


रिपोर्ट :: दीपू द्विवेदी

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।