logo
कर्मचारियों ने फिर सड़कों पर उतर धरना प्रदर्शन कर आंदोलन करने की दी चेतावनी
नगरपालिका अध्यक्ष द्वारा सफाई मजदूर यूनियन अध्यक्ष को हड़ताल समाप्त कराने के नाम पर रुपया तथा विधायक बनने पर फोर व्हीलर का ऑफर देने का ऑडियो वायरल, कर्मचारियों में आक्रोश 
 
 

कायमगंज/ फर्रुखाबाद। नगर पालिका परिषद कायमगंज के संविदा आउटसोर्सिंग सफाई कर्मचारियों तथा मजदूरों ने बकाया वेतन भुगतान एवं वेतन विसंगत सहित अपनी अन्य लंबित मागों को लेकर एक अक्टूबर 21 को ज्ञापन सौंपकर एक दिनी हड़ताल करते हुए। इसके बाद 15 अक्टूबर से 20 अक्टूबर 2021 तक मांगों के समर्थन में हड़ताल की थी।

उनका यह आंदोलन अपनी चरम पर था । नगर की सफाई व्यवस्था चौपट होते ही नगरवासी भी इन कर्मचारियों के समर्थन में आने लगे थे। यह स्थिति भापकर ही शायद भाजपा सिंबल पर निर्वाचित हुए नगर पालिका अध्यक्ष सुनील कुमार चक, जो कि संभवत निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में कायमगंज आरक्षित विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से टिकट के प्रबल दावेदार हैं।

अध्यक्ष सुनील कुमार सफाई कर्मचारियों की हड़ताल को अपने राजनैतिक भविष्य के विपरीत मानकर सफाई कर्मचारी संगठन के जिलाध्यक्ष हरिओम वाल्मिक से हड़ताल समाप्त कराने के लिए गुप्त समझौता किया। जिसका पिछले 3 दिन से एक ऑडियो वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो में स्पष्ट सुनाई दे रहा है कि सुनील चक,  हरिओम बाल्मिकि को अपना खास बता कर हड़ताल समाप्त कराने के लिए अपने एसबीआई खाते से 50 हजार रुपया निकलवा कर उन्हें देने की बात कह रहे हैं।

यह भी स्पष्ट हो रहा है कि हरिओम वाल्मिक 75,000 हजार रुपए देने की बात अध्यक्ष से कह रहे हैं। इस पर पालिका अध्यक्ष सफाई कर्मचारी यूनियन जिला अध्यक्ष हरिओम बाल्मिकि को ऑफर देते हुए कहते सुने जा रहे हैं कि आप हमारे खास हैं। जब मैं विधायक बनूंगा तो तुम्हें अपने साथ रख लूंगा और एक गाड़ी तुम्हें दूंगा। फिलहाल आप कर्मचारियों के सामने मुझसे उलझने का दिखावा करें और इस हड़ताल को अब समाप्त करा दें। जैसी अन्य बातें भी वायरल वीडियो में छिपे रहस्य को उजागर करती हुई सुनी जा सकती हैं।

ऑडियो वायरल होने के बाद से ही कायमगंज के बाल्मिकि समाज में जिनकी सफाई कर्मचारियों के रूप में बड़ी संख्या में सहभागिता है। इन सभी में रोष व्याप्त हो गया । आज  सफाई मजदूर यूनियन के नगर अध्यक्ष पिंकू उर्फ गुरु तथा विमल आदि संगठन पदाधिकारियों ने कहा कि एक साजिश के तहत उनकी हड़ताल को धोखा देकर समाप्त करा दिया गया था।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने अपने संगठन से विश्वास घात करने वाले संगठन जिला अध्यक्ष हरिओम बाल्मीकि को निष्कासित कर दिया है। उनका कहना है कि इनकी ही वजह से आज तक हमारे  35 कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल पाया। साथ ही अन्य समस्याएं भी ज्यों की त्यों लंबित पड़ी रही। अब वे  मिलकर सड़कों पर उतरेंगे। साथ ही आंदोलन करते हुए, अपनी मांगों को मनवाने का प्रयास करेंगे।

उनका कहना है कि कल से ही उनका संगठन अगली रणनीति पर चलते हुए जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी तथा अधिशासी अधिकारी को ज्ञापन देकर अपनी समस्याओं के समाधान की मांग करेंगे। साथ ही रिश्वत जैसे कृत्य करने वाले नगर पालिका अध्यक्ष सुनील कुमार चक की बर्खास्तगी एवं नगर पालिका में किए घोटालों की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग करेंगे।

वायरल वीडियो के संबंध में मीडिया के सामने आकर सुनील कुमार चक ने एक तरह से 50 हजार रु० देने की बात परोक्ष रूप से स्वीकार करते हुए ,बताया कि उन्होंने यह रुपया हरिओम के कहने पर उन्हें हड़ताली कर्मियों में, जो ज्यादा गरीब है, उनको बांटने के लिए दिए थे। लेकिन गाड़ी उपलब्ध कराने तथा अन्य कही गई बातों पर नगर पालिका अध्यक्ष ने कोई स्पष्ट और सीधा उत्तर नहीं दिया।


रिपोर्ट - जयपाल सिंह यादव, दानिश खान

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।