logo
पनकी मंदिर में रूपये लेकर दर्शन करा रहे सिपाहियों का विरोध करना पड़ा मंहगा, चौकी में बंद कर की जोरदार पिटाई
 

कानपुर। पनकी मंदिर में दर्शन कराने के नाम पर उगाही में लगे सिपाहियों से उलझना भाजपा किसान मोर्चा दक्षिण के जिलाअध्यक्ष के बेटे को महंगा पड़ गया। आरोप है कि सिपाहियों ने चौकी में बंद करके युवक को बुरी तरह पीटा। इसकी जानकारी होने पर भाजपा नेता समेत सैकड़ों लोग थाने पहुंच गये और जाम लगाकार हंगामा कर दिया। मौके पर एसीपी कल्याणपुर दिनेश शुक्ला पहुंचे और समझा कर लोगों को शांत कराया। मामले की रिपोर्ट बनाकर चौकी इंचार्ज सिपाहियों के खिलाफ दी गयी है । 

सूत्रों की माने तो डीसीपी ने इस मामले में दरोगा मनोज सिंह व तीन सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है हालाकिं अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि अधिकारियों ने नहीं की थी। भाजपा किसान मोर्चा दक्षिण के जिलाध्यक्ष  राजेश बाजपेई के बेटे उत्कर्ष अपने दोस्तों साथ पनकी स्थिति हनुमान मंदिर दर्शन करने आया था। आरोप है कि डयूटी पर लगे तीन सिपाही वीवीआईपी दर्शन कराने के नाम पर कुछ लोगों से पैसा लेकर उन्हें भीड़ से इतर दर्शन करा रहे थे जिसका उसने विरोध किया था। जिससे नाराज पुलिस कर्मी उत्कर्ष को चौकी में ले गये और बंधक बनाकर पीटा। बेटे की पिटाई की जानकारी मिलते ही दर्जनों भाजपाई पनकी चौकी पहुंचे और हंगामा कर दिया। 

बवाल की आशंका पर एसीपी कल्याणपुर भी पहुंचे और लोगों को समझा कर शांत कराया। भीड़ सिपाहियों और चौकी इंचार्ज को सामने लाने की मांग करने लगी। एसीपी ने कार्यवाही का भरोसा देकर रिपोर्ट बनाकर डीसीपी को सौंप दी है। मामले में कार्यवाही का आश्वासन मिलने के बाद भाजपाई चौकी से हटे। श्री बाजपेई ने बताया कि उनका बेटे ने पुलिस के गलत आचरण का विरोध किया तो उसे जानवरों की तरह पीटा गया है जो निंदानीय है। कार्यवाही का भरोसा अफसरों ने दिया है। बता दे कि पनकी मंदिर में पहले भी दर्शन कराने के नाम पर उगाही के कई मामले सामने आ चुके है।

रिपोर्ट : शाहिद पठान

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।