logo
यूपी के 75 जिलों से व्यापारी समाज एवं वैश्य समाज पहुचेंगे कानपुर, सीएम योगी और केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल रहेंगे मौजूद
सम्मलेन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल मौजूद रहेंगे। आयोजन की सफलता के लिए  उप्र सरकार के नागरिक उड्डयन, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज के कबीना मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी ने खुद कमान संभाल रखी है। इसमें पूरे प्रदेश से व्यापारी एवं वैश्य समाज के लाखों लोगों पहुंचने की उम्मीद है।
 

आगाज में होगा व्यापारियों का ऐतिहासिक जुटान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल रहेंगे मौजूद

कानपुर के रेलवे ग्राउंड में 8 जनवरी को होगा आयोजन

कबीना मंत्री नंद गोपाल गुप्ता  नंदी ने संभाली कमान

कानपुर। कानपुर का रेलवे ग्राउंड व्यापारियों का ऐतिहासिक जुटान का साक्षी बनने जा रहा है। यहां 8 जनवरी को आगाज- 2022 का आयोजन होगा, जिसमें पूरे प्रदेश के व्यापारी एवं वैश्य समाज के लोग शिरकत करेंगे। सम्मलेन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल मौजूद रहेंगे। आयोजन की सफलता के लिए  उप्र सरकार के नागरिक उड्डयन, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज के कबीना मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी ने खुद कमान संभाल रखी है। इसमें पूरे प्रदेश से व्यापारी एवं वैश्य समाज के लाखों लोगों पहुंचने की उम्मीद है। वैश्य एवं व्यापारी समाज के सभी संगठनों के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे। वह पिछले एक महीने से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में जाकर व्यापारियों से संवाद करने उन्हें आने का न्यौता खुद दे रहे हैं।

मंत्री नंदी का कहना है कि आगाज-2022 का मकसद व्यापरियों के भीतर स्वाभिमान पैदा करना है। व्यापारियों ने गाढ़े वक्त में देश के लिए हमेशा भामाशाह की भूमिका निभाई है। उनको स्वाभिमान के साथ व्यापार का हक मिलना ही चाहिए।

व्यापारी निडर होकर कर सकता है अपना व्यापार

महोबा में व्यापारियों के साथ संवाद के दौरान कबीना मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में भाजपा सरकार ने पिछले पांच साल के दौरान व्यापारियों को इज्जत के साथ व्यापार करने का माहौल दिया है। प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर की बनाने का संकल्प लिया है। प्रधानमंत्री के संकल्प को पूरा करने के लिए योगी सरकार पूरे जतन से लगी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई की सरकार ने प्रदेश से गुंडों एवं माफियाओं का नाश करके व्यापार के लिए स्वस्थ्य वातावरण तैयार किया है। अब किसी व्यापारी को गुंडा टैक्स चुकाने की जरूरत नहीं। व्यापारी निडर होकर अपना व्यापार कर सकता है। प्रदेश सरकार ने भयमुक्त वातावरण के साथ ही सूबे के इंन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में महत्वपूर्ण काम किए।

मंत्री नंद गोपाल नंदी ने पूर्व यूपी सपा सरकार पर साधा निशाना, कहा डर का था माहौल

केंद्र एवं प्रदेश सरकार की डबल इंजन सरकार का ही कमाल रहा कि कारोबार बढ़ाने की नीति पर दोनों सरकारों ने काम करते हुए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। सरकार की नीतियों ने व्यापार को बढ़ाने का अवसर दिया।  मंत्री नंदी ने पूर्ववर्ती सपा सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि सपा कार्यकाल में गुंडा एवं अराजकता का माहौल था। पूरे प्रदेश में भय का वातावरण था। सबसे ज्यादा व्यापारी वर्ग डरा हुआ था। उसकी मेहनत पर कोई भी गुंडा कभी भी डाका डाल सकता था। व्यापारियों में आम धारणा थी कि जिस गाड़ी में सपा का झंडा, उसमें बैठा कोई गुंडा। सरकारी संरक्षण में पलने वाले इन गुंडों ने व्यापारियों का पांच साल तक शोषण एवं उत्पीड़न किया। तत्कालीन सरकार ने देश एवं प्रदेश की अर्थव्यवस्था में योगदान करने वाले व्यापारियों के बारे में कभी नहीं सोचा। सपा कार्यकाल के दौरान व्यापारी खुद को असुरक्षित महसूस करता था। अपनी मेहनत से किसी तरह व्यापार बढ़ता तो तरह-तरह की वसूली के लिए गुण्डे और माफिया उसे धमकाने का काम शुरू कर देते। अपनी तिजोरी को तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर भरने वाली बहन मायावती जी ने भी हमेशा व्यापारी वर्ग साथ सतौला व्यवहार किया। उनकी वजह से प्रदेश विकास की दौड़ में काफी पीछे छूट गया।

देश को आगे बढ़ाने में व्यापारियों की बड़ी भूमिका

कबीना मंत्री नंदी ने कहा कि देश एवं प्रदेश को आगे ले जाने में व्यापरियों की भूमिका से कोई इंकार नहीं कर सकता। भामाशाहों ने हमेशा देश के संकट में उसकी मदद की। व्यापारियों के योगदान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तरजीह दी। उन्होंने भी हमेशा कैबिनेट में व्यापारी हितों के मामले उठाए। सरकार के काम काज के इसका असर भी दिखाई पड़ा। उन्होंने कहा व्यापरियों की एकजुटता का ही परिणाम रहा कि ऐसा स्वच्छ वातावरण देने वाली भाजपा सरकार गठित हुई। प्रदेश विकास की राह में आगे बढ़ना शुरू हुआ है। विकास की रफ्तार बनी रहे। बच्चों का भविष्य खुशहाल रहे इसके लिए व्यापरियों को अपनी एकजुटता दिखाई होगी। उन्होंने सभी व्यापारियोें बंधुओं से आठ जनवरी को कानपुर के रेलवे ग्राउंड में पहुंचने की अपील की। कहा, यह समागम ऐतिहासिक होगा।

एयरपोर्ट एवं एक्सप्रेस वे का जाल बिछाकर कारोबारियों की राह की आसान

बेहतरीन इंफ्रास्ट्रक्चर का सबसे अधिक फायदा कारोबार को बढ़ाने में होता है। प्रदेश की डबल इंजन सरकार ने पिछले पांच साल के दौरान एक्सप्रेस वे, हाइवे एवं एयरपोर्ट का जाल बिछा दिया। इससे पूरे प्रदेश की कनेक्टिविटी बेहतरीन हुई है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से पूर्वांचल के व्यापरियों को फायदा होगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे बुंदेलखंड के व्यापारियों को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। प्रदेश में पहले दो एयरपोर्ट थे लेकिन, अब इनकी संख्या बढ़कर 9 हो गई। आने वाली समय में इनकी संख्या बढ़कर 17 हो जाएगी। शेष 8 एयरपोर्ट पर तेजी से काम चल रहा है। उप्र देश का पहला ऐसा राज्य है जहां पर 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। धार्मिक स्थलों को जोड़ने के लिए भी सरकार ने पिछले पांच साल में कोई कसर नहीं छोड़ी। यहां सुमगता पूर्वक पहुंचकर लोग दिव्यता के साथ ही आध्यात्मिक शांति का भी अनुभव कर सकेंगे। बड़ी इंडस्ट्रीज लगाने वालों की परेशानी खत्म करने के लिए खास तौर से एकल विंडो सिस्टम की शुरूआत हुई।

व्यापारी और कारोबार को सरकार ने  दी सुरक्षा - मंत्री

काबीना मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी का कहना है कि देश के सामने जब भी संकट आया भामाशाहों के वंशजों ने तन, मन, धन सब अर्पित कर दिया। कई सियासी दलों ने सत्ता हथियाने के लिए व्यापारियों का साथ लिया लेकिन, सत्ता मिलने के बाद सबसे ज्यादा उत्पीड़न व्यापारियों का ही किया। योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में गठित भाजपा सरकार ने यह परंपरा तोड़ी। व्यापारियों का सम्मान के साथ कारोबार करने का अवसर दिया। योगी आदित्यनाथ की अगुवाई का कमाल है जो कोई व्यापारी का उत्पीड़न नहीं कर सकता। व्यापारियों के साथ अगर किसी ने गलत करने की कोशिश की तब सरकार ने अपराधियों को दंडित किया। सरकार ने ऐसे मौके पर हमेशा व्यापारियों का साथ दिया। सरकार का संकल्प है कि देश एवं प्रदेश को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देने वाले समाज की हर कीमत पर सुरक्षा होगी।

सभी महत्वपूर्ण व्यापारी संगठन एवं पदाधिकारियों ने दिया अपना समर्थन

समर्थन करने वालों में भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के विनीत शारदा, वैश्य समाज अजय केसरी, वैश्य एकता  परिषद सुमंत गुप्ता, इंटरनेट वैश्य फेडरेशन आशोक अग्रवाल, राष्ट्रीय अघ्यक्ष नीरज वोरा, अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन नटवर गोयल, अखिल भरतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा पदुम जायसवाल, अखिल भारतीय केसरवानी वैश्य महासभा किशन केसरवानी, अखिल भारतीय केसरवानी वैश्य समाज सुभाष केसरवानी, अखिल भारतीय अग्रहरि वैश्य समाज सुरेश अग्रहरि, अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मलेन गोपाल सरन गर्ग दिल्ली, अखिल भारतीय महेश्वरी महासभा, अखिल भारतीय खंडेलवाल वैश्य महासभा, श्रीअखिल भरतीय कान्यकुंज भोजवाल महासभा सुभाष गुप्ता, अखिल भारतीय श्रीवैश्य बारह सैनी महासभा, भारतीय उद्योग व्यापार मंडल रविकांत गर्ग, वैश्य समाज महिला श्रीमती लीना सिंघल, अखिल भारतीय कान्यकुब्ज वैश्य हलवाई मोदनवाल महासभा, भारतीय तैलिक साहू राठौर महासभा, उप्र स्वर्णकार संघ, अखिल भारतीय मद्धेशिय कान्दू वैश्य महासभा, अखिल भारतीय रौनियार वैश्य महासभा,अखिल भारतीय गुलहरे वैश्य महासभा, अखिल भारतीय शिवहरे वैश्य महासभा, अखिल भारतीय दोसर वैश्य महासभा ने अपना समर्थन दिया है।

Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें व टेलीग्राम ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें।