ऑनलाइन कक्षाओं के तनाव में छात्र कर रहे हैं आत्महत्या

by shubham

नई दिल्ली : लॉक डाउन में ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से पढ़ाई पर ज़ोर दिया जा रहा है | लेकिन इसी पढ़ाई का दबाव अब छात्रों की आत्महत्या का कारण भी बन रहा है | आज राज्य सभा में कांग्रेस सांसद अहमद पटेल ने शून्य काल के दौरान इस मुद्दे को उठाया | अलग अलग राज्यों का आकंड़ा पेश करते हुए अहमद पटेल ने कहा कि वर्तमान समय में देश की आधारभूत सरचना व वातावरण ऑनलाइन कक्षाओं के लिए उपयुक्त नहीं है |

केंद्र सरकार से मांग करते हुए पटेल ने कहा कि केंद्र सरकार ऑनलाइन क्लासेज के संदर्भ में सभी राज्यों के लिए एक सामान दिशा निर्देश जारी करे | इसके साथ ही स्कूलों की ओर से फीस के बढ़ते दबाव की भी चर्चा उन्होंने अपने सम्बोधन में की | राज्यवार आंकड़ा पेश करते हुए पटेल ने कहा कि एक सर्वे के अनुसार दिल्ली के 80 फीसदी घरों में छात्रों के लिए लैपटॉप या कंप्यूटर की सुविधा नहीं है | ऐसे में छात्र ऑनलाइन पढ़ाई कैसे कर सकेंगे |

केरल, गुजरात, दिल्ली इत्यादि राज्यों का ज़िक्र करते हुए पटेल ने कहा कि इन राज्यों में ऑनलाइन पढ़ाई व तनाव के कारण छात्रों ने आत्महत्या जैसा कदम तक उठाया है | साथ कहा कि केंद्र को ऑनलाइन कक्षाओं में गरीब बच्चों की उपस्थिति तय करने के लिए वित्तीय मदद करनी चाहिए |

Related Posts