चीनी का उत्पादन पिछले सीजन के मुकाबले बढ़कर 233.77 लाख टन हुआ

नई दिल्ली– देश में एक अक्टूबर 2020 से लेकर 28 फरवरी 2021 तक के बीच चीनी का उत्पादन बढ़कर 233.77 लाख टन पर पहुंच गया जबकि पिछले सीजन में यह 194.82 लाख टन रहा था।

इस सीजन में 503 चीनी मिलों ने 233.77 लाख टन चीनी का उत्पादन किया जबकि पिछले सीजन में 29 फरवरी 2020 तक 453 चीनी मिलों ने 194.82 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था।

चीनी का उत्पादन सबसे अधिक महाराष्ट्र में हुआ जहां 28 फरवरी तक 176 चीनी मिलों से 84.85 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ तथा इस दौरान गन्ने की आपूर्ति नहीं होने से 12 चीनी मिलों में काम नहीं सका। राज्य में पिछले सीजन में 120 चीनी मिलों से 50.70 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था।

ये भी पढ़ें- एक साल में कानपुर से गुजरात तक खुलेगा फ्रेट कॉरिडोर

उत्तर प्रदेश में इस सीजन में 109 चीनी मिलों ने चीनी का उत्पादन शुरू किया था जिसमें से 11 चीनी मिलों में उत्पादन नहीं हो सका। राज्य में इस वर्ष 28 फरवरी तक 74.20 लाख टन का उत्पादन हुआ जबकि पिछले 2019-2020 सीजन में 119 चीनी मिलों में 76.86 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था।

इस दौरान कर्नाटक में 66 चीनी मिलों से 40.53 लाख टन, गुजरात में 7.49 लाख टन, तमिलनाडु में 3.37 लाख टन तथा शेष आंध्र प्रदेश, तेलंगाना,बिहार, उत्तराखंड, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और ओडिशा में सयुक्त रूप से 23.54 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ।

बाजार रिपोर्टों के अनुसार इस सीजन में अधिकतर राज्यों में प्रति क्विंटल दामों में पिछले वर्ष के मुकाबले कमी दर्ज की गई है। तमिलनाडु में इस वर्ष प्रति क्विंटल दाम 3200-3225 रुपए प्रति क्विंटल के बीच है जबकि उत्तरी राज्यों में यह 3160-3180 रुपय प्रति क्विंटल के बीच है। इस बार प्रति क्विंटल की कीमत पिछले सीजन के मुकाबले 80 से लेकर 100 रुपए प्रति क्विंटल कम है।

इन्पुट- यूनीवार्ता