कानपुर। कोरोनाकाल में देश में लगे लॉकडाउन से देश की जीडीपी गिर चुकी है। जिसको लेकर हर किसी के माथे पर चिंता की लकीरें पड़ गई हैं। व्यवसाई भी लगातार इस काल से उबरने की कोशिश कर रहे हैं। वही आज भी टेंट व्यवसाई आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं और मौजूदा सरकार से गुहार लगा रहे हैं।


इसी कड़ी में कानपुर टेंट सर्विस ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि 22 मार्च से टेंट व्यवसाय, फार्म हाउस, बैंकट हॉल, होटल कैटर्स, लाइट- जनरेटर, साउंड- डीजे बैंड, गायन- वादन, फ्लावर डेकोरेटर, फोटोग्राफर मैन्युफैक्चरर के सीजनल काम सब रुक गए हैं। व्यवसाय न होने से व्यवसाई भुखमरी की कगार तक पहुंच गए हैं। इस पर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने 13 बिंदुओं पर मांग पत्र बनाकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजने का काम किया है। अगर टेंट व्यवसायियों की मांगे पूरी नहीं होंगी तो व्यापारी प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होंगे।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा