बांदा :: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के कोतवाली देहात थाना क्षेत्र में एक कलयुगी पुत्र अपने माता-पिता की हत्या कर दी। घटना की जानकारी शनिवार को उस समय हुई जब घर से अलग रह रहा बड़ा पुत्र उनके हाल जानने के लिये माता पिता के घर पहुंचा।


पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया वर्ष 2003 में सेवानिवृत्त बाल विकास परियोजना अधिकारी 78 वर्षीय मैयादीन अपनी 70 वर्षीय पत्नी रामकली व अपने छोटे पुत्र जितेंद्र के साथ करहिया गांव में रहती थे। दंपत्ति के अन्य पुत्र अलग मकानों में रहते थे। शनिवार को दंपति का जेष्ठ पुत्र योगेंद्र अपने माता पिता से मिलने घर पहुंचा तो दोनों के शव अलग-अलग चारपाई में पड़े मिले और उनके मुंह से खून निकल रहा था। माता पिता के साथ रहने वाला पुत्र घर से फरार था। जेष्ठ पुत्र योगेंद्र ने आरोप लगाया कि पिता-माता के साथ रहने वाला छोटा बेटा जीतेन्द्र पिता से अक्सर पैसे मांग करता था मांग न पूरी होने पर उनकी पिटाई भी करता था।

योगेश ने आरोप लगाया कि पैसे की मांग पूरी न होने से जितेंद्र ने माता-पिता की गला घोंटकर हत्या कर दी और फरार हो गया। पुलिस ने बताया कि शनिवार को शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। साथ ही घटना का मुकदमा पंजीकृत कर फरार बेटे की तलाश शुरू की गई।

वार्ता