जालौन : जनपद जालौन के माधौगढ़ कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कैलोर में बीते 25 अक्टूबर को पुलिस को सूचना दी गई थी कि कुछ लोगों द्वारा परिजनों को नशीला पदार्थ खिलाकर तीन बेशकीमती अष्टधातु की मूर्ति चोरी कर ले गया है। घटना संज्ञान में आने के बाद माधौगढ़ पुलिस ने नीरज कुर्मी जोकि कोंच का रहने वाला था। उसके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक जालौन के निर्देशानुसार एवं अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी माधौगढ़ के नेतृत्व में टीमों का गठन कर एसओजी व सर्विलांश की संयुक्त टीम हकीकत में जुट गई। है कि अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो लेकिन कानून के लंबे हाथों से नहीं बच सकता। जांच के दौरान मात्र कुछ ही दिनों में पुलिस ने इस घटना का सफल अनावरण कर लिया और चोरी करने वाले तीन अभियुक्तों को मूर्तियों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

कैसे आरोपियों तक पहुंची पुलिस

पुलिस मामले की तफ्तीश में लगी थी कि तभी मुखबिर के द्वारा सूचना मिली की सिंचाई विभाग गेस्ट हाउस बंगरा के पास सड़क से शातिर चोर निकलने वाले हैं। सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी प्रवीण कुमार आरोपियों को पकड़ने के लिए सूचना मिलने वाली जगह पर पहुंच गये। और लगभग 3:30 बजे पुलिस ने शातिर चोरो को गिरफ्तार कर लिया।

हमीरपुर जनपद का है शातिर मुख्य आरोपी


गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ के दौरान बताया कि हम लोगों का साथी नीरज पुत्र रामप्रसाद जो कि थाना कुरारा जनपद हमीरपुर का रहने वाला है जिला जेल जालौन में बंद था। तब उसकी दोस्ती राजा पुत्र रामबहादुर जो कि माधौगढ़ थाना क्षेत्र के कैलोर के रहने वाले थे‌ उनसे हो गई। जेल से छूटने के बाद नीरज राजा के घर पर आने जाने लगा। तभी नीरज को जानकारी हो गई कि राजा के घर में प्राचीन मंदिर है जिसमें अष्ट धातु की मूर्तियां हैं।

इसके बाद जेल में मिले साथी ने योजना बनाई और अपने साथियों के साथ 24 अक्टूबर को मोटरसाइकिल से कैलोर गांव के लिए निकल पड़े। रास्ते में शातिरों ने जूस समोसा और नींद की गोली खरीद ली और गांव के बाहर बाकी साथी रुक गए। एवं नीरज अपने मिलने वाले के घर चला गया। यहां योजनाबद्ध तरीके से नीरज ने जूस और समोसे के साथ घर वालों को नींद की गोलियां खिला दी। एवं मध्यरात्रि के बाद जब सभी परिजन सो गए। तो करीब 3:00 बजे नीरज मंदिर से राधा कृष्ण की मूर्तियां मय स्टैंड चोरी करके रफूचक्कर हो गया। एवं गांव के बाहर इंतजार कर रहे अपने साथियों के साथ मिलकर मूर्तियों को लेकर फरार हो गया।

पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले शातिर चोरों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए वीरू प्रजापति पुत्र शिव भजन सजेती थाना कानपुर नगर एवं नरेंद्र कुमार पुत्र राम प्रसाद बेड़िया थाना कुरारा हमीरपुर और आनंद कुमार पुत्र गया प्रसाद थाना बिवांर जनपद हमीरपुर को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि घटना को षड्यंत्र रचने वाला मुख्य आरोपी नीरज पुत्र रामप्रसाद पुलिस की गिरफ्त से फरार है।

  • रिपोर्ट : दीपू द्विवेदी