दरिंदों ने युवती को बंधक बनाकर 7 दिनों तक किया सामूहिक दुष्कर्म

by vaibhav

प्रयागराज :- प्रदेश सरकार लाख दावे करें प्रदेश को अपराध मुक्त करने की लेकिन उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराध को देख यह लगता नहीं कि प्रदेश की कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। प्रदेश में बढ़ रहे दुष्कर्म व हत्या के मामलेप्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़े करते हैं।

मामला उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जनपद के औद्योगिक क्षेत्र के तेंदुआवन गांव से 20 सितंबर को अगवा की गई अनुसूचित जाति की किशोरी 27 सितंबर की देर रात छिवकी जंक्शन के समीप बेहोश मिली। होश आने पर वह अपने मामा के घर पहुंची। किशोरी का कहना है कि उसके साथ पांच लोगों ने बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस को सूचना दी गई, लेकिन सीमा विवाद की वजह से पीड़िता के परिजन घूरपुर, औद्योगिक क्षेत्र और नैनी कोतवाली के चक्कर लगाते रहे। आखिरकार औद्योगिक क्षेत्र थाना में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

क्या है पूरा मामला

घटना 20 सितंबर की है।प्रयागराज के गुरुकुल इलाके के गांव की रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी अपने मामा के यहां अपने छोटे भाइयों को छोड़ने आयी थी। युवती का कहना है जब वह भाइयों को छोड़कर साइकिल से वापस अपने गांव जा रही थी। तो तेंदुआवन गांव के समीप पहले से घात लगाकर बैठे पांच लोग उसे नशीला पदार्थ सुंघाकर बाइक से उसे उठा ले गए। उसे एक घर में बंधक बनाकर पांचों ने सात दिन तक दुष्कर्म किया।

Related Posts