उत्तर प्रदेश : अभी एक आफत कम हुई नहीं थी कि दूसरी आपदा ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। हम बात कर रहे हैं वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की जो अभी सही से खत्म नहीं हुआ था कि लोगों को रहस्यमयी बुखार के कहर ने भी तड़पा दिया है। इस बीमारी के डर से उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में अभी तक 11 बच्चों सहित 13 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। मौत के बाद लोगों में डर का माहौल है तो वही फरह के कौंह गांव में 60 परिवार गांव में फैली महामारी के कारण अपने घरों पर ताला लगाकर पलायन कर चुके हैं।

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कुछ शहरों में सैकड़ों बच्चे इस रहस्यमयी बुखार से तप रहे हैं। अचानक बुखार इस कदर बढ़ जाता है कि सांसे तक हमने लगती हैं। फिरोजाबाद में इस रहस्यमय बुखार से अब तक 50 से अधिक बच्चों की मृत्यु हो चुकी है वहीं मथुरा में पिछले 15 दिनों में 11 बच्चों की मृत्यु हुई है। इस रहस्यमय बुखार ने सभी का जीना मुहाल कर दिया है जिसके कारण गांवों से लेकर कस्बों तक डर का माहौल है।

ए एन आई के एक ट्वीट के मुताबिक मथुरा में अभी तक 11 बच्चों से 13 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि मथुरा के गोवर्धन फरह और आसपास के गांव में स्वास्थ्य विभाग और मेडिकल टीम 24 घंटे का रथ और सभी मरीजों का इलाज किया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि मथुरा में इस रहस्यमयी महामारी के खौफ से लोगों ने अपने घरों पर ताला लगा दिया है और घर से पलायन कर या तो कहीं बाहर चले गए या अपने रिश्तेदारों के घर पर शरण ले ली है।

सबसे अधिक रहस्यमयी बुखार से फिरोजाबाद है पीड़ित

आपको बता दें कि इस रहस्यमयी महामारी उत्तर प्रदेश का फिरोजाबाद जनपद सबसे ज्यादा पीड़ित है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी फिरोजाबाद का दौरा करके स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया था उन्होंने अस्पताल में भर्ती कोमल से मुलाकात की थी और परिजनों को इलाज का भरोसा भी दिलाया था। लेकिन मुख्यमंत्री से मुलाकात के कुछ ही घंटों बाद कोमल की मौत हो गई थी।

वही आपको बता दें कि फिरोजाबाद के अलावा इस रहस्यमई महामारी का आगरा, कानपुर मथुरा ,मैनपुरी ,एटा , कासगंज में भी इस महामारी से संक्रमित मरीज मिल रहें हैं। यही नहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोंडा देवरिया बलिया आजमगढ़ सुल्तानपुर और गाजीपुर में भी बुखार फैल रहा है। कोरोना की तीसरी लहर से पहले उत्तर प्रदेश में रहस्यमई बुखार ने कहर बरपा ना शुरू कर दिया है।