बाल मजदूरी की ओर बढ़ते बच्चों का जीवन संवरेगा “यूथ संस्कार फाउंडेशन”

by vaibhav

बिलासपुर: यूथ संस्कार फाउंडेशन ने पंच उत्सव कार्यक्रम चला कर दीवाली व बाल दिवस के अवसर पर पांच घुमंतू बच्चों को गोद लेकर उनकी पढ़ाई की जिम्मेदारी ली। संस्था की अध्यक्ष आकृति शर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान परिवार पर आर्थिक संकट का प्रभाव देखने को मिल रहा है इसका सीधा प्रभाव उनके बच्चों में भी देखने को मिल रहा है छोटे छोटे बच्चे स्कूल बंद होने की वजह से व आर्थिक परेशानी के कारण व्यवसाय या नौकरी करने को मजबूर हो रहे है जिसके कारण वे जाने अनजाने में बाल मजदूरी, बाल नशाखोरी, बाल भिक्षवृत्ति, बाल अपराध इत्यादि असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त होते जा रहे है जिसको ध्यान में रखते हुए हमने इस दीवाली व बाल दिवस के अवसर पर बच्चों के अभिभावकों को इससे होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी देते हुए बच्चों को नए कपड़े, जूते चप्पल एवम पढ़ाई की सामग्री दे कर उन्हें सिर्फ पढाई करने की सलाह दी गई एवम इन बच्चों के सतत विकास के लिए एक बच्चे के पीछे संस्था के दो सदस्यों को नियुक्त किया गया है जो इन बच्चों को पढ़ाई में होने वाली असुविधा को दूर करेगे।

बच्चों के अभिभावकों ने संस्था के प्रयास की प्रशंसा करते हुए इस प्रयास में संस्था का साथ देने का वादा करते हुए बच्चों को पढ़ाई कराने का वादा किया। अनैतिक कृत्य से बच्चों को बाहर निकलने के सार्थक पहल का समर्थन करते हुए बावरी स्टूडियो ने पंच उत्सव पर शार्ट फ़िल्म बनाने की बात कही है जिससे समय रहते बच्चों के बचपन को बचाया जा सके ।
गोद लिए गए बच्चें
सन्नी कैवर्त उम्र- 12 वर्ष कक्षा- 6 वी विजय लक्ष्मी वर्मा उम्र- 13 वर्ष
कक्षा- 8वी, राकेश प्रजापति उम्र- 11 वर्ष कक्षा- 5वी, अभिषेक वर्मा उम्र- 13 वर्ष कक्षा- 5वी,नीरज साहू उम्र- 12 वर्ष कक्षा- 6वी है।
कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग रहा आकृति शर्मा,अभय दुबे, रेनु गौतम, मनुराज, शारदा कमलेश,पायल ठाकुर, प्रकृति शर्मा,अनुकृति शर्मा, मधु शुक्ला, मयंक जैन, योगेश देवांगन, राहुल श्रीवास्तव, ज्ञान चंद पटेल,किशोर पटेल,योगिता मोटवानी, लव छाबड़ा,अभिलाष श्रीवास्तव, मिनाक्षी, केशवी, सुनील सिंह राजपूत, शिवांगी दास, मधु पटेल, यूसुफ, शिव पूजन, शिवांगी श्रीवास्तव, मुक्त देवांगना।

रिपोर्ट : प्रकाश झा

Related Posts