लोग अपने ऊपर पता नहीं क्या-क्या एक्सपेरिमेंट करते रहते हैं जिससे कभी-कभी उनकी जान आफत में अटक जाती है। मामला ब्रिटेन से सामने आया है जहां हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है जिसे सुनकर आप अपने दांतो तले उंगलियां दबा लेंगे। अधिकतर पुरुषों में अपने प्राइवेट पार्ट के साइज को बड़ी ही गंभीरता से लिया जाता है। अगर साइज छोटा हुआ तो इसका मतलब है कि वह अपनी पार्टनर को शारिरिक सुख नहीं दे सकता। हालांकि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है लेकिन इंटरनेट पर मौजूद कई मनगढ़ंत रिपोर्ट्स को पढ़कर युवा प्राइवेट पार्ट के साइज को लेकर चिंतित हो जाते हैं। जैसा कि इस मामले में सामने आया जहां एक सिरफिरे युवक ने अपने प्राइवेट पार्ट को आपने के चक्कर में अपनी जान आफत में लटका ली।

मामला ब्रिटेन से है जहां प्राइवेट पार्ट को नापने के लिए शख्स ने कुछ ऐसा किया कि उसकी जिंदगी खतरे में पड़ गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ज्ञात हुआ है कि ब्रिटेन के युवक को उस समय अस्पताल में भर्ती कराया गया जब यूएसबी केबल उसके प्राइवेट पार्ट में अटक गई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक युवक अपने प्राइवेट पार्ट को यूएसबी केबल की मदद से नापने की कोशिश कर रहा था। उसी दौरान केबल अंदर फंस गई और लेने के देने पड़ गए।

युवक के प्राइवेट पार्ट के अंदर फसी केबल

यह हादसा तब हुआ जब शख्स ने अपने प्राइवेट पार्ट को नापने के लिए उसके अंदर केवल डाल दी , जब शख्स ने केबल को निकालने की कोशिश की तो वह अंदर से जख्मी हो गया। इसके बाद उसके निजी अंग से खून निकलने लगा और स्थिति बिगड़ गई। जब उसने अपने पैरेंट्स को बताया तो वह उसे अस्पताल लेकर दौड़े। स्थानीय मीडिया में छपी खबर के मुताबिक घटना ब्रिटेन की राजधानी लंदन की है। यहां युवक ने डॉक्टरों को बताया कि वह यूएसबी केबल से अपने प्राइवेट पार्ट को नापने की कोशिश कर रहा था, तभी वह अटक गई। इस दौरान काफी खून भी निकलने लगा। जब काफी खोशिश के बाद भी तार नहीं निकली तो उसने अपने माता-पिता को मदद के लिए बुलाया। घर वाले पहले उसे पास के अस्पताल में ले गए लेकिन वहां से युवक को यूनिवर्सिटी कॉलेज हॉस्पिटल लंदन में रेफर कर दिया गया। जब युवक लंदन के हॉस्पिटल में पहुंचा तुम डॉक्टरों ने उसका उपचार शुरू किया और उसके प्राइवेट पार्ट के पास चीरा लगाना पड़ा। युवक ने बताया कि वह ये जानने की कोशिश कर रहा था कि उसका प्राइवेट पार्ट कितना बड़ा है। उसने पास में पड़ी एक केबल से उसे नापना शुरू कर दिया। डॉक्टरों ने पीड़ित के अंदर से तार तो निकाल दी है लेकिन उसे काफी अंदरूनी चोटें आई हैं। सर्जरी के एक दिन बाद ही उसे छुट्टी दे दी गई। डॉक्टर ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह प्रयोग खतरनाक भी साबित हो सकता है।