कानपुर : बच्चे जब छोटे होते हैं मैं उनको पाल पोस कर बड़ा करती है और यह सोचती है कि आगे चलकर वही बच्चे उसका सहारा बनेंगे। मां की ममता बहुत ही अटूट होती है। लेकिन जब बच्चे बड़े हो जाते हैं तो उनको अपनी मां की चिंता फिक्र नहीं होती। कलयुगी पुत्र एवं बहू की दास्तां हम आज आपको बताने जा रहे हैं। जिसे सुनकर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे। आखिर कोई बेटा या बहू अपनी वृद्ध मां के साथ ऐसा दयनीय काम कर सकता है।


मामला है उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर का जहां उर्सला अस्पताल में भर्ती एक लाचार मां की कहानी आज हम आपको बताएंगे जिसने भी कभी सपने देखे होंगे जब उसके बच्चे छोटे थे। कि बच्चे बड़े होंगे उनकी शादी होगी और हंसते खेलते परिवार के साथ वह इस समय बताएगी। लेकिन क्या उसको पता था। कि यही बेटा या उसकी बहू उसके साथ गैरों से भी ज्यादा बदसलूकी करेंगे।


मामला है कानपुर नगर के नौबस्ता थाना क्षेत्र के गोपाल नगर का जहां बीते लगभग 1 सप्ताह पहले एक कलयुगी बहू ने अपनी सास को इतनी बेरहमी से पीटा कि आज वह 1 हफ्ते से अस्पताल के बेड पर लेटी है। और तो और वृद्ध मां अब चलने से भी लाचार हो गई। यह वही मां है इसने भी कभी सोचा होगा। कि आगे चलकर इसके भी बच्चे बुढ़ापे में इसका सहारा बनेंगे। लेकिन मां को क्या पता था कि लड़के का ही परिवार उसको लाचार बना देगा।

आपको बता दें नौबस्ता थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाला गोपाल नगर की रहने वाली कमला देवी अपने साथ ही घटना का हाल जब बताया तो जिसने भी सुना उसकी आंखों में आंसू आ गए। वृद्ध कमला देवी ने बताया कि उनकी बड़ी बहू सीमा ने अपने बच्चों के साथ मिलकर उनको इतना पीटा कि उनका पूरा टूट गया। इसकी शिकायत जब है थाने लेकर पहुंचे तो वहां से भी ज्यादा कुछ सांत्वना नहीं मिली उनकी तहरीर लेकर पुलिस ने बोला आप जाइए हम कार्यवाही कर रहे हैं। तब से कमला देवी अब कानपुर के उर्सला अस्पताल में भर्ती हैं।