सिरोही । भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित,विधायक जगसीराम कोली व समाराम गरासिया जनसमस्याओं को लेकर जिला कलेक्टर से मिले। उस दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष पुरोहित ने कहा कि रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की जो काला बजारी हो रही है और शिवगंज में जिन लोगो को पकड़ा है उनके पूरे गिरोह को पकड़ कर सख्त से सख्त कारवाई की जाए।
पुरोहित ने कहा कि जो 42 वेंटीलेटर जो बन्द पड़े है अभी तक चालू नही हो पाए उनको तुरंत चालू करने की मांग की।,साथ ही कहा कि हॉस्पिटलों में जो ऑक्सीजन एवम अस्पतालों के अंदर बेड़ो की व्यवस्था बढ़ाने की मांग की।साथ ही कहा कि जिले में
रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की पूर्ति को बढ़ाया जाए।जिला मुख्यालय पर सी टी स्केन पर ज्यादा वसूली, सरकारी अस्पताल में दवाईयो के अभाव से आमजन को मजबूरन दवाइयां बाहर से खरीदनी पड रही है, मरीजो को सरकारी एम्बुलेंस उपलब्ध नही होने के कारण राज्य सरकार द्वारा राशि तय होने के बावजूद भी महंगी रेट में बाहर से लानी पड़ती है। इन सभी समस्याओं से जल्द निजात दिलवाने के आग्रह किया।
रेवदर विधायक जगसीराम कोली ने रेवदर व आबूरोड के सरकारी अस्पतालों में हो रही परेशानियों को लेकर अवगत करवाते हुए जिला कलेक्टर से कहा की ऑक्सीजन की कमी के कारण संक्रमितों की मृत्यु नही होवे अगर इसके लिए धनराशि ओर देने को तैयार है। साथ ही आबूरोड में निजी एम्बुलेंस चालको द्वारा तय रेट से ज्यादा वसूलने की शिकायत पर जल्द करवाई करवाने का आग्रह किया।
कोली ने विधानसभा क्षेत्र के स्वास्थ्य केंद्र में ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर मशीने व अन्य संसाधन भी उपलब्ध कराने की बात कही। रेवदर मुख्यालय पर ऑक्सीजन वार्डों की तत्काल व्यवस्था करने, आयुर्वेदिक अस्पतालो में दवाइयों व संसाधनों की पूर्ति करने, आबूरोड मानसरोवर में चिकित्सा व्यवस्था, ऑक्सीजन, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन सहित अन्य व्यवस्था सुधारने, पर्याप्त मात्रा में दवाइयों की व्यवस्था व विधायक मद से दी गई राशि का क्रियान्वयन कर जल्द ऑक्सीजन प्लांट लगाने की मांग की।
वही आबु-पिंडवाड़ा विधायक समाराम गरासिया ने कहा कि कोरोना संक्रमित बेबिदेवी सेशमल रावल को पिंडवाड़ा व आबूरोड अस्पताल में जाने पर सही जवाब नही मिलने के कारण सिरोही रवाना हुए और बीच मे ही उनकी मृत्यु हो गयी। वैसेही रोहिड़ा के संगीत रावल को दो घंटे एम्बुलेंस के अभाव में जगह पर ही दम तोडना पड़ा।गरासिया ने कहा कि जो प्राइवेट एंबुलेंस वाले खड़े हैं उनको राज्य सरकार द्वारा तय रेट द्वारा ही मरीजों को व्यवस्था की जाए।गरासिया ने कहा कि इसमें स्पष्ट रूप से प्रसाशन की लापरवाही दर्शाती है। जो कि इस नाजुक दौर में घोर निंदनीय है।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल राजस्थान ब्यूरो चीफ