जालौन। रेंढर थाना क्षेत्र के ग्राम कुठौंदा में 14 वर्षीय बच्चे की ट्रैक्टर से कुचलकर मौत । घटना को अंजाम देने वाले लोग बच्चे को मृतअवस्था में बोलेरो गाड़ी में शव रखकर दरवाजे पर छोड़कर भाग गए। जब परिजनों ने दरवाजे पर खड़ी बुलेरो गाड़ी को देखा तो घर में कोहराम मच गया। गाड़ी में शव पड़े होने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गई वहीं परिजनों ने गांव के ही दो लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है।

घटना रेंढर थाना क्षेत्र के ग्राम कुठौंदा की है। जहां के रहने वाले संतोष कुशवाहा के 14 वर्षीय पुत्र शिवम को गांव के ही कल्लू पुत्र इस्लाम खां और उसके 2 साथी खेतों पर काम के लिए घर से ले गए थे। इसी दौरान 14 वर्षीय मासूम की ट्रैक्टर से कुचलकर मौत हो गई। मासूम को लहूलुहान देख कल्लू तत्काल इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आये, लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया, जिसके बाद कल्लू ने किशोर के शव को एक बुलेरो गाड़ी में रखकर उसके घर के बाहर छोड़कर भाग गए। खून से लथपथ पड़ा था. बालक जब मृतक के परिजनों ने बाहर खड़ी बोलेरो को देखा लेकिन गाड़ी में कोई बैठा नहीं दिखाई दिया तो उन्होंने झांक कर देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई।

जिसमें उनके बच्चे शिवम का शव खून से लथपथ पड़ा था। जिसके बाद पूरे घर में कोहराम मच गया बोलेरो गाड़ी में शव पड़े होने की सूचना मिलते ही लोगों की भीड़ जमा हो गई जिन्होंने तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी सूचना मिलते ही रेंढ़र थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, जिन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी साथ ही शव को बोलेरो से निकालकर कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।। वहीं, मृतक शिवम के पिता संतोष ने प्रार्थना पत्र देते हुए थानाध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह को बताया कि कल्लू और उसके साथी उसके बेटे को घर से खेत पर काम करने के लिये ले गए, जहां ट्रैक्टर से कुचलकर बेटे की हत्या कर दी गई। वही पुलिस घटना की जांच में जुटी हुई है।

रिपोर्ट : नवीन कुशवाहा