कायमगंज(फर्रुखाबाद): अनियंत्रित गति से दौड़ रही तेज रफ्तार प्राइवेट बस ने दुर्घटना को अंजाम दे , एक ही परिवार के दो सगे युवा भाइयों को मौत की नींद सुला दिया। इस दुखद घटना के बाद से ही परिवार में कोहराम मचा हुआ है । मिली जानकारी के अनुसार पड़ोसी जनपद एटा थाना अलीगंज क्षेत्र के गांव सरोतिया निवासी उमेश चंद्र दीक्षित के बेटे 22 वर्षीय अंकित उर्फ अंशु तथा 25 वर्षीय अंकुर महानगर कानपुर में अपने परिवार के भरण पोषण के लिए के लिए प्राइवेट नौकरी करते थे। दोनों भाई दीपावली अवकाश पर अपने घर आए थे।

आज प्रातः कानपुर वापस प्लैटिना बाइक से जा रहे थे। वे अपने गांव से लगभग 4 किलोमीटर की दूरी पर अलीगंज- कायमगंज मार्ग पर स्थित थाना कंपिल क्षेत्र के गांव नियामतपुर ढिलावली के सामने पहुंचे ही थे, कि उसी समय सामने से आ रही तेज रफ्तार प्राइवेट बस जिस पर परिवहन निगम से अनुबंधित का बोर्ड लगा था, ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही दोनों भाई लहूलुहान होकर सड़क के किनारे गिर गए। दुर्घटना में बड़े भाई अंकुर की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। जबकि उनके छोटे भाई अंकित को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कायमगंज लाया गया। जहां जांच के तुरंत बाद ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।

मृतक के पास से मिले पहचान पत्र के पते पर घटना की सूचना परिवार वालों को दी गई। घबराए परिजन घटनास्थल पर पहुंचे। जहां से कुछ लोग सीएचसी कायमगंज भी आ गए थे । अपने ही दो युवा होनहार बेटों को खोने के गम में परिवार बालों का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था। घटनास्थल तथा अस्पताल में मौजूद भीड़ भी इस ह्रदय विदारक घटना से बेहद आहत नजर आ रही थी। बताया जा रहा है, कि घटना को अंजाम देने वाली बस का नंबर किसी व्यक्ति ने नोट भी कर लिया था। किंतु वह व्यक्ति भी घबराकर मौके से कहीं चला गया। उसका पता करने का प्रयास किया जा रहा है।

रिपोर्ट : जयपाल सिंह यादव/दानिश खान