आजमगढ़। देवगांव पुलिस से मुठभेड़ में दो बदमाशों को गोली लग गई। पैर में गोली लगने से घायल दोनों बदमाशों को मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत फिलहाल चिकित्सकों ने खतरे से बाहर बताई है। लुटेरों के पास से लाखों रुपये कीमत की ड्रिल मशीन, दो तमंचा, कारतूस व बाइक बरामद हुई है। पुलिस दोनों बदमाशों का जरायम इतिहास जानने में जुट गई है। उनके लखीमपुर खीरी जिला का निवासी होने की बात सामने आई है। पुलिस के अनुसार बदमाशों से पूर्व में किए गए वारदात के बारे में भी पूछताछ कर पड़ताल की जा रही है।

इस मामले में अन्घ्य लोगों की संलिप्घ्तता को लेकर भी पुलिस पड़ताल कर रही है। जल्द ही इनसे जुड़े लोगों के बारे में भी पड़ताल की जाएगी। देवगांव इंस्पेक्टर मंजय सिंह तड़के फोर्स के साथ गश्त पर थे। उसी समय मुखबिर ने बदमाशों के बारे में जानकारी दी। इंस्पेक्टर ने अपराध इंस्पेक्टर राकेश सिंह व इलाके में भ्रमणशील दारोगा आशीष कुमार राय को मेहनाजपुर-पल्हना मार्ग पर स्थित जानकीपुर के पास बुला लिया। वहां फोर्स ने घेराबंदी की तो दो संदिग्ध युवक बाइक से आते दिख गए। सिपाहियों ने उन्हें रुकने का इशारा किया तो दोनों भागने की कोशिश में लग गए। हालांकि, पुलिस के पहले से अलर्ट होने के कारण बदमाश सफल नहीं हो सके।

पुलिस ललकारते हुए घेराबंदी की तो बचाव में बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दोनों बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गए। उन्हें दबोचने के बाद मंडलीय जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

  • रिपोर्ट : शैलेंद्र शर्मा