प्यार एक ऐसा शब्द जिसका कोई मोल नहीं होता। प्यार शब्द एक अनमोल शब्द है। इतिहास गवाह है प्यार कि किससे युगों युगों से चले आ रहे हैं। पुराणों में भी प्रेम के बारे में बखूबी वर्णन किया गया है। प्यार रिश्ते धर्म और समाज को नहीं देखता। जिसको सच्चे दिल से प्यार हो जाता है वह है दुनिया के सारे रंजो गम भूल जाता है। यह सब आपने सुना होगा।लेकिन आज मैं आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूं। जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।

आज सुबह उन्नाव जनपद के पुरवा में एक प्रेमी युगल ने फांसी लगा ली थी। सुबह जब शव आम के पेड़ पर लटका राहगीरों ने देखा। तो फिर हड़कंप मच गया। सुबह खबरों में यह तो पता चल रहा था कि प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। लेकिन पूरी घटना का किसी को पता नहीं था।


प्रेमी युगल ने क्यों लगाई आखिर फांसी

उन्नाव के पुरवा में घर से 1 किलोमीटर दूर बाग में पेड़ से रस्सी के सहारे प्रेमी युगल के सब लटके मिलने से हड़कंप मच गया था। पता चला कि दोनों प्रेमी युगल लगभग 2 साल से प्रेम संबंध में थे। और वह शादी करना भी चाहते थे। लेकिन दोनों के रिश्तों के बीच पारिवारिक रिश्ता रोड़ा बन रहा था। वह रिश्ता था चाचा और भतीजी का दोनों प्रेमी युगल रिश्ते में चाचा और भतीजी लगते थे। इसलिए दोनों के परिजन इस प्रेम के खिलाफ थे। इसी से क्षुब्ध होकर दोनों ने साथ जीने की तो कसमें बहुत दिन पहले ही खा ली थी। लेकिन जब पारिवारिक रिश्ता प्रेम के रिश्ते में रोड़ा बनने लगा तो दोनों ने अपनी जीवन की आखिरी सास एक साथ लेने का निर्णय कर लिया। और आम के पेड़ पर लटक कर फांसी लगा ली।


आपको बता दें कि उन्नाव के पुरवा के पश्चिमी टोला निवासी एक युवक मुंबई में रहकर कपड़ा सिलाई का काम करता था। लॉकडाउन में वह घर आ गया था। घर के सामने रहने वाली रिश्ते में उसकी भतीजी से उसका 2 साल पहले से प्रेम संबंध चल रहा था। बीते शनिवार दोपहर युवक मुंबई जाने की बात कह कर घर से निकल गया था। जब सोमवार की सुबह युवक के पिता घर से लगभग 1 किलोमीटर दूर अपने खेत पर पहुंचे तो बाग में बेटे व युवती का शव फांसी के फंदे पर लटका देख कर बदहवास हो गए। दोनों के परिजन व ग्रामीणों की भीड़ लग गई। सीओ रमेश चंद्र प्रलयंकर व कोतवाल अजय कुमार त्रिपाठी मौके पर पहुंचे।



मृतक युवक के बड़े भाई ने बताया कि शनिवार को वह मुंबई के लिए घर से निकला था। रविवार सुबह नौ बजे फोन मिलाने पर उसने मुंबई के इगतपुरी स्टेशन पहुंचने की बात कही। रात दो बजे चचेरे भाई ने प्रेमी युगल को साथ देखे जाने की जानकारी दी। इस पर दोनों की खोजबीन की गई। सोमवार को दोनों के शव बाग में लटके मिले।


बड़े भाई के अनुसार दोनो के बीच दो साल से प्रेम संबंध था। दोनाें शादी भी करना चाहते थे। दोनों में चाचा-भतीजी का रिश्ता होने पर परिजनों को मंजूर नहीं था। रामू ने दोनों के आत्महत्या करने की तहरीर पुलिस को दी है। दो डॉक्टरों के पैनल व वीडियोग्राफी के बीच दोनों शवों का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक हैंगिंग से दोनों की मौत की पुष्टि हुई है।

रिपोर्ट :- पंकज शुक्ला