विरोध का अनूठा तरीका, नाक रगड़कर की स्कूल से फीस माफी की मांग

by News Desk
25 views

कानपुर। अभिभावक वेलफेयर एसोसिएशन और अखिल भारतीय पीड़ित अभिभावक महासंघ चैरिटेबल एंड एजुकेशन महीनों से लगातार फीस माफी के मुद्दे पर धरना प्रदर्शन करता चला आ रहा है।

आज उसी कड़ी में दोनों ही संगठन जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे जहां। पर मुख्यमंत्री के फोटो पर नाक रगड़ कर फीस माफ करने की बात कही। अगर बात की जाए अभिभावकों की तो काफी संख्या में यहां पर अभिभावक पहुंचे थे इनका कहना है स्कूलों द्वारा शासन के आदेशों की अवमानना करते हुए अभिभावकों को प्रताड़ित किया जा रहा है। वहीं अभिभावकों का कहना था कि वैश्विक महामारी के चलते सभी के व्यापार की बंदी जैसी हालत है। लोगों की नौकरियां जा चुकी हैं और आर्थिक हालात बद से बदतर हो चुके हैं। देश के भविष्य हमारे बच्चों की फीस जमा हो पाने की स्थिति में शिक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता। शिक्षा प्राप्त करने का बच्चों का मौलिक अधिकार अधिकार है।

ऑनलाइन क्लासेज के चलते बच्चों के लिए स्मार्टफोन इंटरनेट का इंतजाम बमुश्किल कर पाए हैं। वह भी सभी अभिभावक ऐसा नहीं कर पाए हैं। उत्तर प्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग के आदेश के अनुपालन भी नहीं हो रहा है। स्कूल अपनी मनमानी पर आए हुए हैं। आज भी ट्यूशन फीस के अतिरिक्त फुल चार्ज कर रहे हैं। अभिभावकों का कहना है नो स्कूल नो फीस ऐसा कर दिया जाए तो बेहतर होगा जब तक इस मुद्दे का हल नहीं निकलता है, तब तक किसी भी बच्चे की ऑनलाइन क्लासेस न रोकी जाए। जैसा के उत्तर प्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने स्पष्ट शब्दों में निर्देशित किया है।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts