भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रत्येक जिले में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठाए जाएँ, जिला स्तरीय, विकास खण्ड स्तरीय, ग्राम स्तरीय और वार्ड स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य जन-जागरूकता बढ़ाने की योजना पर मिलकर कार्य करें। कोरोना से बचाव में सबसे प्रभावी माध्यम है वैक्सीनेशन। इसके साथ ही मास्क के उपयोग और व्यक्तियों के बीच डिस्टेंसिंग कायम रखने से संक्रमण को रोकना आसान है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म-दिवस पर मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान -3.0 आगामी 17 सितम्बर को संचालित किया जा रहा है। महाअभियान को सफल बनाने में सभी सहयोग दें। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज मंत्रालय में मंत्रि-परिषद के सदस्यों की उपस्थिति में विभिन्न स्तर की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्यों और जन-प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे।  मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश ने वैक्सीनेशन में रिकार्ड बनाया है। अभी भी प्रदेश में करीब 2 करोड़ लोग वैक्सीन के डोजेस लगवाने के लिए शेष हैं। इन लोगों को 17 सितम्बर को वैक्सीनेशन केंद्र तक लाने के लिए प्रेरित कर उन्हें सुरक्षा चक्र प्रदान करना है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान -3.0  के संदर्भ में आज प्रदेश के सभी जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के सदस्यों, विधायकों,सांसदों और अन्य जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उन्हें महाअभियान को सफल बनाने के लिए सक्रिय सहयोग देने का आव्हान किया।

रिपोर्ट – आसिफ खान (एम.पी.)