वृंदावन : अखिल भारतीय तीनों अनी अखाड़ा और चर्तुसम्प्रदाय ने घोषित की कुंभ के शाही स्नान की तिथियां। 16 फरवरी को होगा शुभारंभ, 25 मार्च को रंगभरनी एकादशी पर परिक्रमा के साथ होगा समापन।

हरिद्वार से पहले वृंदावन में आयोजित होने वाले कुंभ मेले में शाही स्नान की तिथियां घोषित कर दी गई हैं। मेले का शुभारंभ 16 फरवरी को वसंत पंचमी के दिन तीनों अनी अखाड़ों द्वारा ध्वजारोहण के साथ होगा। रंगभरनी एकादशी 25 मार्च को पंचकोसीय परिक्रमा के साथ मेले का समापन होगा। तीन शाही स्नान की तिथियां घोषित की गई हैं।

वृंदावन में यमुना के तट पर हरिद्वार से पहले कुंभ मेला बैठक का आयोजन होना है। इसके संबंध में तीनों अनी अखाड़ा और चर्तुसंप्रदाय ने शाही स्नान के साथ ध्वजारोहण और पंचकोसीय परिक्रमा की तिथियां तय कर ली हैं। इसमें वसंत पंचमी के दिन ध्वजारोहण के साथ कुंभ का शुभारंभ वृंदावन में होगा। इसके बाद पहला शाही स्नान माघी पूर्णिमा 27 फरवरी को होगा। द्वितीय शाही स्नान फाल्गुन कृष्ण पक्ष नौ मार्च को होगा, जबकि तीसरा शाही स्नान अमावस्या 13 मार्च को होगा।

मेला का समापन रंगभरनी एकादशी को पंचकोसीय वृंदावन की परिक्रमा के साथ होगा। इसका फैसला महंत राजेंद्रदास महाराज, महंत रामजीदास महाराज, महंत फूलडोलबिहारी दास महाराज, महंत धर्मदास महाराज, महंत मोहनदास, गौरीशंकर दास, रामकिशोरदास, महंत हरशिंकर दास महाराज के स्तर से लिया गया है।

तीनों अनी अखाड़ा और चर्तुसंप्रदाय के महंतों ने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दे दी है। इसके साथ ही प्रशासन अब तैयारियों में जुट गया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वृंदावन कुंभ की समीक्षा कर चुके हैं, जबकि ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा स्थलीय निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं,

रिपोर्ट :- राहुल ठाकुर