औरैया । गुरुवार को बिजली के तारों में हुई स्पार्किंग से खेत में खड़ी फसल जल गई। किसानों ने जब तक फायर ब्रिगेड को सूचना देकर लोगों के साथ मिलकर आग पर काबू पाया। तब तक छः बीघा गेहूं की फसल जल चुकी थी। दिबियापुर थाना के लखनपुर गांव में किसान रूप नारायण दुबे के खेत में चार बीघा गेंहू की फसल तैयार थी। उसी के बगल में जयराम की दो बीघा में गेहूं की पकी फसल खड़ी थी।सुबह 11.0 बजे के समय तेज हवा से खेत के ऊपर से निकले बिजली के तारों में टकराव के कारण चिंगारी निकलने लगी। तारों से निकली चिन्गारी से देखते ही देखते गेहूं की फसल भयावह रूप से आग जलने लगी। खेत से उठती लपटें देख आसपास के किसान शोर मचाते हुए पानी का इंतजाम कर आग बुझाने में जुट गए। किसानों को शंका थी कि कहीं आग ने और विकराल रूप लिया तो उनकी फसलों को भी नुकसान होगा।

फोन कर दमकल टीम को सूचना दी गई। लेकिन आग बुझने के बाद दमकल विभाग की गाड़ी मौके पर पहुँची।तब तक ग्रामीणों ने आग पर काबू पा लिया था। लेकिन तब तक रूप नारायण दुबे की चार बीघा की गेहूं और जयराम की दो बीघा गेंहू फसल जल कर राख हो गई।ग्रामीणों में पावर हाउस लखनपुर फीडर के बिजली विभाग के JE सुभाष चंद्र यादव व कर्मचारियों के खिलाफ जमकर रोष व्याप्त है। लाइनमैन लाइन को सही नहीं करते हैं केवल धन उगाही पर व्यस्त रहते है जिसका पैसा मिल गया उसी का ही काम कर दिया शेष किसी का काम नहीं करते हैं इन कर्मचारियों की लापरवाही से सैकड़ों किसानों का हजारों बीघा गेहूं जलकर नष्ट हो जाता है विगत दिबियापुर थाना के क्षेत्र में हरचंदपुर में 12 बीघा भटपुरा गांव में 8 बीघा और लखनपुर में 6 बीघा बिजली विभाग की लापरवाही के कारण किसान अपनी फसल को बचाने में असफल रहे है। बिजली विभाग के कर्मचारी बड़ी सफाई से अपना पक्ष रखते हैं सरकार को ऐसे लापरवाह लाइनमैन को संविदा पर भी नहीं रखना चाहिए जो सही ढंग से काम नहीं करते हैं और किसानों की खड़ी फसल बर्बाद हो जाती है कितनी मेहनत से किसान फसल पक कर तैयार हो पाती हैं देखते ही देखते 10 मिनट में उसकी पूरी साल का अरमान ध्वस्त हो जाता हैं।

रिपोर्ट – शिवम् शुक्ला