औरैया । विकासखंड सहार क्षेत्र के ग्राम बिझाई निवासी एक महिला के पति राजकुमार ने ककोर मुख्यालय पहुंचकर जिला अधिकारी को प्रार्थना पत्र दिया है। जिसमें उसने दैवीय आपदा का शिकार होने का हवाला दिया है। महिला के पति ने आवास दिलाए जाने की फरियाद की है। विकासखंड सहार थाना दिबियापुर क्षेत्र के ग्राम बिझाई निवासी रानी देवी के पति राज कुमार ने अपनी पत्नी के नाम ककोर मुख्यालय पहुंचकर जिला अधिकारी सुनील कुमार को दिए शिकायती प्रार्थना पत्र में कहा है कि वह अंत्योदय राशन कार्ड धारक व मजदूरी मनरेगा कार्ड धारक महापात्र है। उसके पति राज कुमार का नाम आवासीय सूची में अंकित नहीं किया गया है। वर्ष 2002 में सूची बनी नाम लिखा गया पर नाम कट दिया गया। वर्ष 2011 में सूची बनी तब भी नाम लिखा गया इसके बावजूद पुनः नाम काट दिया गया। उसने मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हाल में फार्म भरकर ऑनलाइन किया।

सूची में नाम अंकित किया गया। इसके बाद पुनः काट दिया गया। कहा कि वर्ष 2013 में उसके घर में आग लग गई जिससे दरवाजे पर उसकी दो दुधारू भैंसे व एक जवान पडिया जलकर मर गई। जबकि घर का सारा सामान जलकर राख हो गया। वह कच्ची छत लकड़ी से पटी हुई है उसमें परिवार समेत रहती है। किसी भी समय व एवं उसका परिवार हादसे का शिकार हो सकता है। उसके पति बीमारी से पीड़ित हैं। दैवीय आपदा का शिकार होते हुए भी आज तक उसे आवास नहीं मिला। कई बार मुख्यालय पर प्रार्थना पत्र दिया। जिस पर जिला अधिकारी ने आवास दिए जाने का आदेश किया। इसके बावजूद ब्लॉक से आदेश गायब हो गया। पीड़ित महिला ने मामले की जांच कराये जाने एवं आवास दिलाए जाने की गुहार लगाई है।

रिपोर्ट – शिवम् शुक्ला