मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खंडवा के हनुवंतिया टापू में “जल महोत्सव” के छठवें संस्करण का 20 नवंबर 2021 को शुभारंभ करेंगे। पिछले वर्षों के पर्यटकों के उत्साह और रूझानों को देखते हुए इस वर्ष भी जल महोत्सव की अवधि को दो माह तक रखा गया है। यह महोत्सव 20 जनवरी 2022 तक चलेगा। ‘’जल महोत्सव’’ में आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए इंदौर से हनुवंतिया आने-जाने हेतु दो माह तक प्रतिदिन बस का संचालन भी किया जायेगा।

प्रमुख सचिव पर्यटन और संस्कृति श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि‘’जल महोत्सव’’ के दौरान लग्जरी रीगल सीरीज बोट, 40 फीट हाई रोप स्विंग और जिप सायकल आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेंगे। पर्यटक एडवेन्चर से सम्बन्धित सभी गतिविधियों जैसे पैरामोटरिंग, पैरासेलिंग, स्पीड बोट, जेट स्काई, मोटर बोट राइडिंग, हॉट एयर बैलूनिंग, साइकिलिंग, क्रूज़ बोटिंग, आइलैंड कैम्पिंग, स्टार गेज़िंग, बर्ड वॉचिंग आदि का भी आनंद ले सकेंगे। महोत्सव स्थानीय कला, शिल्प, लोक संगीत, नृत्य और व्यंजनों के माध्यम से प्रदेश के जीवन, संस्कृति, रीति-रिवाजों और समृद्ध परंपराओं का अनुभव करने के लिए एक आदर्श मंच होगा। ‘जल महोत्सव’ में साहसिक खेलों को ध्यान में रखते हुए उत्साहवर्धक गतिविधियों के आयोजनों का भी निर्णय लिया गया है।

टेन्ट सिटी

मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नवाचारों में सदैव अग्रणी रहा है। इसी श्रंखला में सनसेट डेज़र्ट कैम्प के साथ मिलकर इंदिरा सागर बांध में स्थित हनुवंतिया टापू में टेन्ट सिटी का संचालन 1 नवंबर 2021 से पर्यटकों के लिए किया जा रहा है। टेन्ट सिटी में 104 लग्ज़री स्विस टेन्ट्स के साथ कॉर्पोरेट सम्मेलनों के लिए एसी हॉल की भी सुविधा होगी।

कोविड -19 महामारी को ध्यान में रखते हुए केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जायेगा। पर्यटकों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा, पर्यटकों को मास्क और सेनिटाइजर्स भी उपलब्ध कराये जायेंगे। साथ ही टेंट सिटी में विभिन्न स्थानों पर भी सेनीटाइजर स्टेंड लगाये जायेंगे।

हनुवंतिया टापू

“हनुवंतिया टापू” “इंदिरा सागर बांध” के तट पर स्थित एक अद्भुत और अविश्वसनीय पर्यटन स्थल है। इस गंतव्य को पर्यटकों से रू-ब-रू कराने के लिए पर्यटन विभाग ने एक रिसॉर्ट का निर्माण किया है। जल महोत्सव को आयोजित कर यात्रा, व्यापार, हितधारकों और संभावित निवेशकों को नए गंतव्य की सम्भावनाओं का अनुभव कराना और देश के पर्यटन मानचित्र पर स्थापित करना इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है। इंदिरा सागर डैम में समृद्ध जैव विविधता वाले हरे-भरे द्वीप जल मार्ग साधनों द्वारा आपस में सम्बद्ध हैं। जल महोत्सव को वर्ष-2017 में भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा सबसे अनोखे और अद्वितीय नवीन पर्यटन उत्पाद वर्ष-2015-16 के लिए नेशनल टूरिज्म अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।