लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबन्धन के पर्व पर महिलाओं को राज्य परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा कराने के निर्देश देते हुए कहा कि “मिशन शक्ति” को अमृत महोत्सव व अगस्त क्रान्ति से भी जोड़ा जाय।

श्री योगी के समक्ष आज यहां मिशन शक्ति फेज-3 अभियान के तहत सम्मिलित विभागों के प्रस्तावित कार्यक्रमों की कार्य योजना का प्रस्तुतीकरण किया गया। मिशन शक्ति का फेज-तीन 21 अगस्त से दिसम्बर माह तक चलेगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए संचालित वीमेन हेल्पलाइन ‘1090’ का व्यापक प्रचार-प्रसार ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाए। इसके अलावा अन्य हेल्पलाइनों जैसे 181 व 112 का भी व्यापक प्रचार-प्रसार ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाए। सभी महत्वपूर्ण टेलीफोन नम्बरों का अंकन ग्राम पंचायत सचिवालय, पंचायत भवनों, पुलिस चैकियों, थानों इत्यादि के भवनों पर किया जाए, ताकि महिलाओं एवं बालिकाओं को इसकी जानकारी मिले और वे इनका उपयोग आवश्यकतानुसार कर सकें।

उन्होंने कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं को उनके लिए संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी दी जाए। साथ ही, उन्हें इनसे लाभान्वित भी किया जाए। उन्होंने महिलाओं को संस्थागत प्रसव के तहत अनुमन्य सहायता राशि समय से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। साथ ही, बालिकाओं के लिए लागू की जा रही बेसिक, माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा की विभिन्न योजनाओं का लाभ उन्हें उपलब्ध कराने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को अच्छी शिक्षा प्रदान की जाए, ताकि वे स्वावलम्बी बन सकें। उन्होंने इस सम्बन्ध में एक जागरूकता अभियान चलाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी और आशा वर्कर को और प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने रेलवे तथा बस स्टेशनों, धार्मिक स्थलों पर मौजूद निराश्रित महिलाओं एवं बच्चों को संरक्षण गृहों में रखकर उनके पुनर्वास के सम्बन्ध में भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 17 नगर निगमों तथा गौतमबुद्धनगर में ऐसे निराश्रित बच्चों, महिलाओं एवं पुरुषों को संरक्षणगृहों में रखकर उनका पुनर्वास सुनिश्चित किया जाए।

उन्होंने कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए अलग पार्क और जिम की व्यवस्था की जाए जहां वे सुविधापूर्वक अभ्यास कर सकें। उन्हाेंने रक्षाबन्धन के पर्व पर महिलाओं को उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

वार्ता